लेख

छत्तीसगढ़ के बस्तर के एक छोटे से गांव में पले-बढ़े गुंडाधुर ने अंग्रेजों को इस कदर परेशान किया था कि कुछ समय के लिए अंग्रेजों को गुफाओं में छिपना पड़ा था. अंग्रेजों के दांत खट्टे करने वाला ये क्रांतिकारी आज भी बस्तर के लोगों में जिंदा है.* देश के लिए अपनाा सब-कुछ न्यौछावर करने वाले वीर सपूतों के साथ ही कुछ ऐसे लोग भी हैं, जिन्होंने आजादी के समर में अपना एक अलग योगदान दिया है, जिन्हें इतिहास कभी भुला नहीं सकता.

READ MORE...

वीर नारायण सिंह (१७९५ - १८५७) छत्तीसगढ़ राज्य के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, एक सच्चे देशभक्त व गरीबों के मसीहा थे।

READ MORE...

कोयतोरिन टेक्नोलॉजी में टेडा/चिपटा जिसमे बीज को वर्षो तक सुरक्षित रखा जाता है जो की कोयतोर्स अपने फसल के बीज को आने पीढ़ी (जनरेशन)में पूर्णअंकुरण हो और फ़सलोउत्पादन अधिक हो..इसलिए कोयतोर्स सुव्यवस्थित टेडा का बीज संरक्षण में करते है। जिसमे किसी भी प्रकार के किट,फंगस व अन्य परजीवियों का आक्रमण नही होता है क्योंकि उस टेडा/ चिपटा को रशोई रूम में होदेल (चूल्हे) (आग के धुंआ) के ठीक ऊपर में टँगा होता है। ...टेडा #पाउड़_आकि (सियाड़ी के पत्ते) सुव्यवस्थित रूप में गुत्ता होता।

READ MORE...

कोयतोरिन टेक्नोलॉजी में कोर्र_डुटा (घरेलू/देशी मुर्गी का घोसला) अहम भाग है जिसमे मुर्गी अण्डे (एग लेयिंग) देती है और चूजों को बाहरी जानवरों से सुरक्षित रखती है और गोण्डवाना, कोयतोरिन टेक्नोलॉजी में कोर (मुर्गी) हमे बहुत सारा ज्ञान से परिचित करती है।

READ MORE...

गोंड आदिवासियों की भाषा है। यह भाषा प्राचीन काल की भाषा है कहा जाता है कि जब पृथ्वी का उदगम हुआ और इस पृथ्वी पर मनुष्य का जन्म हुआ तब यह भाषा का भी जन्म हुआ। सर्वप्रथम पारीकुपार लिंगो ने इस भाषा को और भी विस्तारित किया। तत्पश्चात अनेक भाषाविद महापुरूषो का इस धरती पर अवतारण हुआ और भाषा का रूपातंरण भी होता रहा है।

READ MORE...

विश्व आदिवासी दिवस क्या हैं ?

READ MORE...

कभी कभी सोते हुए अचानक आपकी नींद खुलती है और आपको लगता है कोई आपके ऊपर बैठा है, आप देख तो सब रहे होते हो पर हिल डुल नही पाते, बोल नही पाते, कुछ सेकंड के लिए ऐसी स्थिति से बहुत सारे लोग गुजरे होंगे, इसे स्लीप पैरालिसिस कहते है,
धर्म- भूत प्रेत का साया है, नज़र लगी है, अपशगुन होगा etc
धार्मिक उपाय - पूजा पाठ, दान दक्षिणा, कथा भागवत ( जैसे लूट सके )

READ MORE...