बोर्ड एवं विश्वविद्यालय में प्रथम श्रेणी उत्तीर्ण जनजाति प्रतिभावान छात्रों को छात्रवृति

अनुसूचित क्षेत्र में वर्ष 1993-94 से यह योजना प्रारम्भ की गर्इ। जनजाति के ऐसे प्रतिभावान छात्र जिन्होंने राजस्थान से माध्यमिक शिक्षा बोर्ड एवं केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा आयोजित कक्षा 10 एवं 12 की परीक्षा प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण की है तथा विश्वविद्यालय में स्नातक एवं स्नातकोत्तर की परीक्षा में भी प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण होते हैं उन्हें राशि 350 रू प्रति छात्र प्रतिमाह की दर से 10 माह तक छात्रवृति दी जाती है।

योजना की अधिक जानकारी के लिये यहां पर क्लिक करें ।
http://www.tad.rajasthan.gov.in/index.php/schemes-hi
साभार
जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग उदयपुर राजस्‍थान

अपने विचार यहां पर लिखें

2 + 16 =